Shayari

Best 98 Dard Bhari Shayari | दर्द भरी शायरी इन हिंदी 2024

आज का हमारा पोस्ट Dard bhari shayari के बारे में है । जिसमे आपको Dard bhari shayari in Hindi की बेहतरीन शायरी को पढ़ने का मौका मिलेगा । इस पोस्ट का उद्देश आपको अच्छी और बेहतरिन शायरी पढ़ने को मिले ।

जिस प्रकार इस पोस्ट का टाइटल है । दर्द भरी शायरी जो की एक दर्द को दिखाता है । इस में आपको दर्द से जुड़ी शायरी पढ़ने को मिलेगी । जिसमे वो दर्द भिन भिन प्रकार का हो सकता है । क्युकी व्यक्ति को अनेकों प्रकार से दर्द को देखना होता है ।

इसका अर्थ है की आपके जीवन में सुख तो कभी दुख होता है । इसलिए दुख की भाषा को एक शहरी में शामिल करके उसको लिखना होता है । हालाकि इसको लिखना आसान नही होता है ।

Dard shayari in hindi को लिखना एक कला होती है जिसमे व्यक्ति के दर्द को उसकी हो भाषा में और उसको हकीकत में महसूस हो सके । उसी प्रकार से इस दर्द को उखेरा है । आपको अगर ऐसी dard bhari shayari पढ़ने का शौक़ या अच्छा लगता है तो आप को ये पोस्ट जरूर उपयोगी लगेगी ।

अंत हमे उम्मीद है आप इस पोस्ट को अच्छे पढ़ेंगे और इस पोस्ट की शयारी को ज़रूर पढ़ कर अपनी पहचान के साथ अपना एक टिप्पणी जरूर देंगे ।

Dard bhari shayari

दुआ करना दम भी उसी तरह निकले,

जिस तरह तेरे दिल से हम निकले !!

 

Dua karna dam bhi usi tarah nikale,

jis tarah tere dil se hum nikale..!!

 

तेरे प्यार में मदहोश होकर,
मैं जमाने से भी लड़ पड़ा,
प्यार हमारा सच्चा था झूठा नहीं था,
जमाने को बताने मै चल पड़ा !!

Tere pyar me madhosh hokar, main jamane se bhi lad pada,

pyar hamara sachha tha jhooth nahi tha, jamane ko batane main chal pada..!!

 

पलकों में आंसू और, दिल में दर्द सोया है।

हंसने वालों को क्या पता?रोने वाला किस कदर रोया है।

 

palakon me aasu aur, dil me dard soya hai ,

hasane walon ko kya pata? rone wala kis kadar roya hai ..!!

 

दर्द मुझको ढूंढ लेता है रोजनए बहाने से…

वो हो गया है वाकिफ मेरेहर ठिकाने से…

dard mujhko dhund leta hai roja naye bahane se,

wo ho gaya hai wakik mere har thikane se..!!

 

Read More :

Dard sad shayari

 

मेरे तो दर्द भी औरों के काम आते हैं,

मैं रो प‌‌डूॅं तो कई लोग मुस्कुराते हैं..!!

 

Mere to dard bhi auron ke kam aate hai ,

main ro padu, to kai log muskurate hai ..!!

 

बहुत जुदा है औरों से मेरे दर्द की कहानी,

ज़ख्म का कोई निशान नहीं और दर्द की कोई इंतहा नही।

 

Bahut juda hai auron se mere dard ki kahani,

jakhm ka koi nishan nahi aur dard ki koi inteha nahi..!!

 

मैं दर्द की एक ऐसी कहानी हु,
जिसे सुनते सब है अपनांता कोई नही…!!

Main dard ki ek aisi kahani hoon,

jise sunte sab hai apnata koi nahi …!!

 

dard shayari

 

प्यार के एक पहलू में मजा है और दूसरे में दुख,
खफा होना अलग बात है और बिछड़ जाना अलग…!!

Pyar ke ek pahlu me maza hai aur dusron me dukh,

khafa hona alag baat hai aur bichad jana alag..!!

 

उसने हसने की दुआ दी मुझको,
फिर क्यों रोने की सजा दी मुझको…!!

Usne hasane ki dua ki mujhko,

Phir kyun rone ki saja di mujhko..!!

 

तेरा चेहरा भी भूल जाता हूं,
मैं तुझे सोचू तो बस सोच कर रह जाता हु…!!

Tera chehra bhi bhul jata hoon,

Main tujhe sochu to bas soch kar raha jata hoon..!!

 

मजबूर कर दिया हालत ने,
वरना क्या रक्खा था तेरी जात में…!!

Mabur ka diya halat ne,

warna kya rakhna tha teri jaat me,,!!

 

तुम कहते थे ना मैं पत्थर हु,
देखो आज इस पत्थर को भी तुमने रुला दिया…!!

Tum kahte the na main patthar hoon,

dekho aaj is patthar ko tumne rula diya ..!!

 

zindagi dard bhari shayari

 

दर्दे दिल की आह तुम ना समझोगे कभी,

हर दर्द का मातम सरेआम नहीं होता !!

Dard dil ki aah tum na samjhoge kabhi,

har dard ka matam sare aam nahi hota..!!

 

बोहोत कुछ सहना पड़ता है अकेले रहकर,
अपने आप को तसल्ली देना एक बड़ी बात है…!!

bohat kuch sahna padta hai akele rahakr,

apne aap ko tasli dena ek badi baat hai…!!

 

किसी से उम्मीद कम रखिए जनाब,
आजकल लोग जज़्बात से खेलते है…!

Kisi se ummid kam rakhiye janab,

aajkal log jajabat se khelte hai .,.!!

 

मोहब्बत बहुत की हमने तुम से,
लेकिन तुमने धोखे के सिवा कुछ ना दिया,
हमेशा मुझको पराया ही समझा तुमने,
मेरी खुद की ज़िन्दगी से मुझको तनहा कर दिया !!

Mohbat bahut ki humne tum se,

lekin tumne dhokhe ke siva kuch na diya,

hamesha mujhko paraya hi samjha tumne,

meri khuyd ki zindagi se mujhko tanha kar diya …!!

 

Dard sad shayari

 

अब मुझे ये प्यार सिर्फ एक नाटक लगता है,
एक बार धोका खाकर जज़्बात मर गए…!

AB mujhe ye pyar sirf ek natak lagta hai ,

ek bar dhokha khakar jajabat mar gaye..!!

 

हर बात में आंसू बहाया नहीं करते,
दिल की बात हर किसी को बताया नहीं करते,
लोग मुट्ठी में नमक लेके घूमते है,
दिल के जख्म हर किसी को दिखाया नहीं करते !!

 

Har bat me aasu bahaya nahi karte,

dil ki bat har kisi ko bataya nahi karte,

log mutthi me namak leke ghumate hai,

dil ke jakhm har kisi ko dikhaya nahi karte..!!

 

Akelepan zindagi dard bhari shayari

 

खामोशियाँ कर देतीं बयान तो अलग बात है,
कुछ दर्द हैं जो लफ़्ज़ों में उतारे नहीं जाते !!

khamoshiya kar deti bayan to alag baat hai ,

kuch dard hai jo lafzon me utare nahi jate..!!

 

गुजर रही है खामोशी से ये ज़िन्दगी,
ना कोई खुशी है ना गम का शोर,
चाहे सौ साल ही क्यों ना इंतजार करना पड़े,
अब उसके सिवा इस दिल में ना आएगा कोई और !!

Gujar rahi hai khamoshi se ye zindagi,

na koi khushi hai na gam ka shor,

chahe sau sal hi kyun na intzar karna pade,

ab uske siva is dil me na aaega koi aur …!

 

पराया ना किया करो मुझे दोस्तो के बीच,
कमसे कम दुसरो के सामने इज्जत रखलो…!!

paraya na kiya karo mujhe doston ke bich,

kamse kam dusron ke samne izzat rakhlon..!!

 

दर्द को मुस्कुराकरसहना क्या सीख लिया,

सबने समझ लिया किमुझे तकलीफ नही होती।

Dard ko muskurakar sahana kya sikh liya,

sabane samjh liya ki mujhe taklif nahi hoti..!!

 

साथ मांगा मिला नही,खुशी मांगी मिली नही,

प्यार मांगा किस्मत में था नही,और दर्द बिन मांगे ही मिल गया।

Sath manga mila nahi, khushi mangi mili nahi,

pyar manga kismat me tha nahi,m aur dard bin mange hi mil gaya.!!

 

 

जाने वालों को क्या पता,

यादों का बोझ कितना भारी होता है.!!

Jaane walon ko kya pata,

yadon ka bojh kitna bhari hota hai ..!!

 

Dard bhari shayari

 

रुला ले जिंदगी कितना भी अकेला समझ कर,
मैं उसकी तरह संगदिल नही हु जो तेरा साथ छोड़ दू…!

rula le zindagi kitna bhi akela samjh kar,

main uski tarah sangdil nahi hoon jo tera sath chhod du..!!

 

बाकी सब ठीक है, मगर सुनो तो,
तुम रोकर मुझे भी रुला देते हो…!

Baki sab thik hai magar suno to,

tum rokar mujhe bhi rula dete ho..!!

 

तुम इस शहर में कहीं भी नही,
ऐसा लगता है ये शहर मेरा है ही नही…!

Tum is shahar me kahi bhi nahi,

aisa lagta hai ye shahar mera hai hi nahi ..!!

 

हर महफिल अब जुदाई लगती है

अब तुम्हारी यादें भी पराई लगती है।

har mahfil ab judai lagti hai ,

ab tumhari yaden bhi parai lagati hai ..!!

 

बहुत अजीब हैं ये बंदिशें मोहब्बत की,कोई किसी को

टूट कर चाहता है,और कोई किसी को चाह कर टूट जाता है।

 

Bahut ajib hai ye bandishe mohbat ki, koi kisi ko,

tut kar chahta hai ayr koi kisi ko chah kar tut jata hai ..!!

 

 

जिस दिल पे चोट न आई कभी,वो दर्द किसी का क्या जाने,

खुद शम्मा को मालूम नहीं,क्यूँ जल जाते हैं परवाने. !!

 

Jis dil pe chot  na aai kabhi, wo dard kisi ka kya jane,

khud shamm ko maloom nahi, kyun jal jate hai parwane..!!

 

दोस्तों हमे उम्मीद है कि आपको हमारी इस पोस्ट Dard bhari shayari ने पसंद करने का अवसर दिया होगा और आपको ये लेख जरूर पसंद आया होगा । आखिर उम्मीद करते है आप इस पोस्ट और भी लोगों तक भेज कर उन्हे भी पढ़ने का मौका जरूर देंगे और साथ ही ये भी उम्मीद करते है की आपको कौनसी लाइन सबसे ज्यादा पसंद आई आप अहुमे नीचे कमेंट के माध्यम से जरूर बताएंगे ।

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button