Shayari

Best 200+ Gulzar shayari in hindi 2024

दोस्तों आज का हमारा पोस्ट शायरी के बादशाह जो शब्दो से खेलते है , Gulzar shayari in hindi आप ने भी इनकी शायरी जरूर सुनी होगी अगर आप शायरी में थोड़ा भी पसंद रखते होंगे तो आपको इनके बारे में जरूर पता होगा !

हिंदी शायरी में बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध शायर है ! गुलज़ार साहब नाम से प्रचलित है , इनकी लिखी गयी सहयरी आज सभी याद है और इनके बेबाक शायरी के अंदाज़ से ही ये जाने जाते है !

 

Gulzar shayari in hindi

 

शाम से आंख में नमी सी है

आज फिर आप की कमी सी है !!

 

Sham se ankh me nami si hai

aaj phir aap ki kami si hai …!!

 

अगर कसमे सब होती

तो सबसे पहले खुदा मरता !!

 

Agar kasme sab hoti

to sabse pahle khuda marta ..!!

 

Gulzar Love Shayari

 

मंज़िल भी उसकी थी रास्ता भी उसका था

एक हम अकेले थे काफिला भी उसका था !!

 

Manzil bhi uski bhi rasta bhi uska tha .

Ek hum akele the kafila bhi uska tha !!

 

आंखों से आंसुओ के मरासिम पुराने है

मेहमा ये घर में आए तो चुभता नही धुंआ !!

 

Ankhon se asuon ke marasim purane hai

mehma ye ghar me aae to chubhta nah dhua !!

 

ऐसा कोई ज़िन्दगी से वादा तो नही था

तेरे बिना जीने का इरादातो नही था !!

 

Aisa koi zindgi se wada to nahi tha

tere bibna jine ka iradaton nahi tha !!

 

टूट जाना चाहता हूँ, बिखर जाना चाहता हूँ,

में फिर से निखार जाना चाहता हूँ,

मानता हूँ, मुस्किल है ,

लेकिन में गुलजार होना चाहता हूँ, !!

 

Tut jana chahta hoon, Bikhar jana chahata hoon

Main phir se nikhar jana chahata hoon,

manta hooon, Muskil hai

Lekin main guljar hona chahta hoon..!!

 

Read More Post

 

Gulzar shayari in hindi

 

बड़ा गजब किरदार है मोहब्बत का

अधूरी हो सकती है मगर खत्म नही !!

 

Bada gajab kirdar hai mohbat ka

adhuri ho skati hai magar khatm nahi !!

 

मेरी कोई खाता तो साबित कर , जो बुरा हूँ तो बुरा साबित कर,

तुम्हें चाहा है कितना तू क्या जाने चल में बेवफा ही सही,तू अपनी वफ़ा साबित कर !!

 

Meri koi khata to sabit kar, jo bura hoon to bura sabit kar, tumhe chaha hai kitna tu kya jane chal me bewafa hi sahi tu , apni wafa sabit kar ..!!

 

जागना भी कबुल है तेरी यादोंसे रातभर

तेरे एहसासों में जो सुकून है वो नींद में कहा !!

 

Jagata bhi kabul hai teri yadon se raatbhar

tere ehsason me jo sukun hai wo nind me kaha..!!

 

एक बीते हुए रिश्ते की, एक बीती घड़ी से लगते हो

तुम भी अब अजनबी से लगते हो !!

 

Ek bite hue rishte ki, ek biti ghadi se lagte ho

tum bhi ab ajanabi se lagte ho ..!!

 

Gulzar ki shayari in hindi

 

कोई समझे तो एक बात कहूं साहब

तन्हाई सौ गुना बेहतर है , मतलबी लोगों से !!

 

Koi samjhe to ek baat kahu sahab

tanhai sau guna behtar hai, maltabi logon se ..!!

 

पलकसे पानी गिरा है तो उसको गिरने दो

कोई पुरानी तमना पिघल रही होगी !!

 

Palak se pani gira hai to usko girane do

koi purani tamna pighal rahi hogi !!

 

बेशुमार मोहब्बतहोगी उस बारिश की बून्द को इस जमीन से

यू ही नही कोई मोहब्बत में इतना गिर जाता है !!

 

Beshumar mohbat hogi us barish ki bund ko is jamin se

yoon hi nahi koi mohbat me itna gir jata hai !!

 

Gulzar Sad Shayari In Hindi Image

 

तुमको गम के जज्बातों से उभरेगा कौन,

गर हम भी मुकर गए तो तुम्हे संभालेगा कौन .!!

 

Tumko gam ke jajbaton se ubharega kaun,

gar hum bhi mukart gae to tumhe sambhalega kaun ..!!

 

हम समझदार भी इतने है की , उनका झूठ पकड़ लेते है

और उनके दीवाने भी इतने की फिर भी यकीन कर लेते है !!

 

Hum samjhdar bhi itne hai ki, unka jhuth pakd lete hai

aur unke deewane bhi itne ki phir bhi yakin kar lete hai ..!!

 

तुम्हे जो याद करता हुन में दुनियय भूल जाता हूँ,

तेरी चाहत में अक्सर संभालना भूल जाता हूँ ,!!

 

Tumhe jo yad karta hoon, main duniya bhul jata hoon,

Teri chahat me aksar sambhalna bhul jata hoon,,,!!

 

मैन मौत को देखा तो नही, पर वो बहुत खूबसूरत होगी

कम्बख़त जो भी उससे मिलता है जीना ही छोड़ा देता है !!

 

Mene maut ko dekha to nahi par to bahut khubsurat hogi,

khambakhat jo bhi usse milta hai jina hi chhoda deta hhia ..!

 

दौलत नही शोहरत नही न वाह चाहिए

कैसे हो ? बस दो लफ्जो की परवाह चाहिए !!

 

Daulat nahi shohrat nahi na wah chahiye,

Kaise ho ? Bas do lafjo ki parwah chahiye..!!

 

Gulzar sad Status

 

करिब से होकर जाने वाले

अक्सर नसीब में नही होते

 

Karib se hokar jane wale

aksar nasib me nahi hote,,!!

 

यू भी एक बार तो होता की समुन्दर बहता

कोई एहसास तो दरिया की अना का होता !!

 

Yu bhi ek bar to hota ki samandar bahta

koi Ehsas to dariya ki aan ka hota ..!!

 

कभी ज़िन्दगी एक पल में गुजर जाती है

कभी ज़िन्दगी का एक पल नही गुजरता !!

 

kabhi zindgi ek pal me gujar jati hai

kabhi zindgi ka ek pal nahi gujarata ..!!

 

जब से तुम्हारे नाम की मिसरी होठ से लगाई है

मीठा से गम मीठी सी तन्हाई है !!

 

Jab se tumhare naam ki misari hoth se lagai hai

mitha se gam mithi si tanhai hai ..!!

 

तन्हाई अच्छी लगती है , सवाल तो बहुत करती पर,

जवाब के लिये, ज़िद नही करती !!

 

Tanhai achhi lagti hai , sawal to bahut karti par

jawab ke liye, zid nahi karti…!!

 

Gulzar shayari in hindi

 

खता उनकी भी नही यारों वो भी क्या करते

बहुत चाहते वाले थे किस किस से वफ़ा करते !!

 

KHata unki bhi nahi yaron wo bhi kaya karte,

bahut chahte wale the kis kis se wafa karte..!!

 

हाथ छूटे भी तो रिश्ते नही छोड़ा करते

वक़्त की शाख से लम्हे नही तोड़ा करते!!

 

hath chhute bhi to rishte nahi chhoda karte

waqt ki shaakh se lamhe nahi toda karte ..!!

 

Gulzar shayari love

 

आप के बाद हर घड़ी हम ने

आप के साथ ही गुजारी है !!

 

Aap ke baad har ghadi hum ne

aap ke sath hi gujarai hia.!!

 

दिन कुछ ऐसे गुजारता है कोई

जैसे हस्सन उतारता है कोई !!

 

din kuch aise gujarata hai koi

jaise husan utarata hai koi ..!!

 

आईना देख कर तसल्ली हुई

हम को इस घर में जनता है कोई !!

 

aaina dekh kar taslli hhui

hum ko is gghar me janta hai koi …!!

 

two line Gulzar shayari in hindi

 

तुम्हारी खुश्क सी आंखे भली नही लगती

वो सारी चीज़े जो तुम को रुलाए भेजी है !!

 

Tumhari khushk si ankhe bhali nahi lagti

wo sari chize jo tum ko rulae bhejji hai

 

तजुर्बा कहता है रिश्तों में फैसला रखिये

ज्यादा नजदीकियों अक्सर दर्द दे जाती है !!

 

tajurba kahta hai rishton me faisal rakhiye

jyada najdikiyon aksar dard de jati hai ..!!

 

हाथ छूटे भी तो रिश्ते नही छोड़ा करते,

वक़्त की शाख से लम्हे नही तोड़ा करते !!

 

Hath chhute bhi to riushte nahi chhoda karte

waqt ki shakh se lamhe nahi toda karte ..!!

 

खुली किताब के सफ़हे उलटते रहते है

हवा चले न चले दिन पलटते रहते है !!

 

khuli kitab ke safahe ulatate rahte hai

hawa chale na chale din palatate rahte hai ..!!

 

रात को भू कुरेद कर देखो

अभी जलता हो कोई पल शायद !!

 

Raat ko bhu karde kar dekho

Abhi jalata ho koi pal shayad..!!

 

वो उम्र कम कर रहा था मेरी

में साल अपने बढा रहा था !!

 

Wo umr kam kar rha tha meri

main saal apne badha raha tha..!!

 

समंदर समंदर होते है

नदिया नदिया होती है

सिर्फ बुरा बुरा नही होता

अच्छो में भी कमियां होती है !!

 

samandar samandar hote hia ,

nadiya nadiya hoti hai

sirf bura bura nahi hota

achho me bhi kamiya hoti hai ..!!

 

Gulzar shayari on life

 

बेमतलब की बाते है

ऐसा थोड़ी होता है

कौन किसी पे मरता है

कौन किसी का होता है !!

 

Bematlab ki bate hai ,

aisa thodi hota hai

kaun kisi pe marta hai

kaun kisi ka hota hai ,..,!!

 

गुजर रहे है उम्र के उस पहर से 

खविशे जहां जरा रंगीन होती है

शरारतों के बाद वाला सफर है ये

जहां गलतियां भी संगीन होती है !!

 

Gujar rahe hai umr ke us pahar se

khawishe jahan jara rangin hoti hai

shararton ke bad wala safar hai ye

jahn galtiyan bhi sangin hoti hai ..!!

 

हमे उम्मीद है आपको हमारा पोस्ट Gulzar shayari in hindi , पसंद आया होगा । और आशा करते है  की आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ share जरूर करे । और आपको कौनसी पसंद सबसे ज्यादा पसंद आई हमे कॉमेंट करके जरूर बताएं ।।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button