Shayari

Best 79 + Jumma Mubarak Shayari | जुम्मा मुबारक शायरी इन हिंदी

नमस्कार दोस्तों आज का हमारा पोस्ट है जुम्मा मुबारक शायरी इन हिंदी ( Jumma Mubarak Shayari )  इस पोस्ट में आपको जुम्मे से जुड़ी हुई अनेक बेहतरीन शायरियां पढ़ने को मिलेगी इस पोस्ट का उद्देश्य आप लोगों तक एक अच्छे मन और दिल से मुबारक देना है ।

जैसे कि आप जानते हैं जुम्मा प्रत्येक सप्ताह के शुक्रवार को अदा किया जाता है जुम्मा मुस्लिम धर्म से जुड़ा हुआ एक धार्मिक क्रिया है । जिसको वह प्रत्येक शुक्रवार को अपने नजदीकी मस्जिद में जाकर नमाज पढ़ कर अदा करते हैं । मुस्लिम धर्म में जुम्मे का एक बहुत ही हम हिस्सा है जिसको मुस्लिम लोग अपने हृदय से प्रत्येक शुक्रवार को पूरा करते हैं।

अगर आप भी मुस्लिम है या फिर किसी भी जाति विशेष धर्म से हैं तो आप अपने मुस्लिम भाइयों या दोस्तों को यह पोस्ट को शेयर कर सकते हैं या इस पोस्ट की किसी भी जुम्मा मुबारक शायरी को भेज सकते हैं ताकि उन्हें भी पढ़कर अच्छा लगेगा हमारे इस पोस्ट का उद्देश्य बस इतना ही है कि आप लोगों तक एक मनोरंजक रूप से मुबारक बात देना है ।

जुम्मा मुबारक शायरी इन हिंदी

 

इन्सान का मुक़द्दर. ,उतनी बार बदलता है,
जितनी बार वो अपने, रब से “दुआ” करता है।
” जुम्मा मुबारक “

 

Insan ka mukdar utni bar badalta hai,

Jitni bar wo apne rab se dua karta hai..!!

 

सर झुकाने की खूबसूरती भी, क्या कमाल की होती हैं,
धरती पर सर रखों और, दुआ आसमान में कुबूल हो जाती हैं।
” जुम्मा मुबारक “

 

Sar jhukane ki khubsurat bhi kya kamal ki hoti hai ,

Dharti par sar rakho aur dua aasmana me kubul ho jati hai ..!!

 

होती ना गर मक़सुद मुहम्मद की वीलादत,
आदम को फ़िर ज़मीन पर उतारा नहीं जाता।
” जुम्मा मुबारक “

 

Hoti na gar muksud muhmd ki viladat,

adat ko fir jamin par utara nahi jata..!!

 

सुकून क्या है ये सिर्फ अल्लाह
के आगे झुकने वाले जानते है।
” जुम्मा मुबारक ” ।।

 

Sukun kya hai ye sirf allah,

Ke aage jhukane wale jante hai …!!

 

Read More :  मियाँ भाई एटीट्यूड शायरी  

 

Jumma Mubarak Shayari

 

इबादत वो है जिसमे ज़रूरतों का ज़िक्र न हो,
सिर्फ उसकी रेहमतों का शुक्र हो।
” जुम्मा मुबारक “

 

Ibadat wo hai jisme jarurton ka zikr na ho,

Sirf uski rehmaton ka shukr ho ..!!

 

मेरे मौला तेरा करम होगा,
मेरी तक़दीर संवर दे मौला।

 

mere maula tera karam hoga,

Meri takdir sawamar de maula..!!

 

मौत तो आनी ही है, ए खुदा!
क्यू न सजदे में आ जाये।
” जुम्मा मुबारक “

 

Maut to aani hi hai e khuda,

kyun na sajde me aa gaye..!!

 

Jumma Mubarak status image

 

जो मांगे है एक दुसरे को दुवाओं में,
उस दुवाओं की खुदा खैर करे।

 

Jo mange hai ek dusre wo duao me,

Us duawao ki khuda khair kare..!!

 

दिल छोटा ना करो ,एक दिन अल्लाह तुम्हारी सारी दुआएं
कबूल करेगा इंशाअल्लाह। ,जुम्मा मुबारक आप सभी दोस्तों को..!!

 

Dil chhota na karo,ek din allah tumhari sari duaye,

kabul karega ishallah , jumma mubarak aap sabhi doston ko..!!

 

दुआ लफ़्ज़ों से नहीं,,दिल से होनी चाहिए,
क्यूंकि खुदा उनकी भी सुनता है,,जो बोल नहीं सकते।
” जुम्मा मुबारक ” ।।

 

Dua lafzon se nahi dil se honi chahiye,

Kyuki khuda unki bhi sunta hai jo bol nahi sakte..!!

 

Jumma Mubarak Quotes in hindi

 

खुदा की रहमत होती है,
जब मेरी अम्मी की दुआ साथ होती है ।।

 

Khuda ki rahamt hoti ahi ,

Jab meri ammi ki dua sath hoti hai …!!

 

बेशक़ जिन की उमीद अल्लाह से है.
वो कभी न उमीद नहीं होते।
” जुम्मा मुबारक ” ।।

 

Beshak jin ki umid allah se hai,

wo kabhi na umid nahi hote..!!

 

मुझे क्या हक़ में किसी को मतलबी कहूं,
मैं खुद ही “खुदा” को मुसीबत में याद करता हूं ।।

 

Mujhe kya hak me kisi ko matlabi kahu,

main khud hi khuda ko musibat me yad karta hoon…!!

 

अल्लाह की मोहब्बत के इलावा
दुनिया की हर मोहब्बत दुःख देती है ।।

 

Allah ki mohbat ke ilawa,

duniya ki har mohbbat dukh deti hai..!!

 

या परवर दिगर आज नमाज़ में जितने भी हाथ उठे,
दुआ के लिए सब कीदुआओं पे कबूल फरमा।
” जुम्मा मुबारक ”  ।।

 

Ya parwar digar aaj namaj me jitne bhi hath uthe,

dua ke liye sb ki dua pe kabul farma..!!

 

बस खुदा के दर से भीख मिल जाए,
फिर तो अमीरों में भी लंगर करेंगे ।।

 

Bas khuda ke dar se bhikh mil jaye,

phir to amiron me bhi langar karenge..!!

 

इश्क़ करना है तू अपने अल्लाह से कर
जहाँ न जुदाई है,
न बे वफ़ाई, न रुस्वाई ।।

 

Ishq karna hai tu apne allah se kar,

jahan na judai hai  na be wafai na ruswai…!!

 

जुम्मा तुल विदा मुबारक सभी दोस्तों को,
अल्लाह हम आप सभी की रमज़ान,
की इबादतें कुबूल फरमाए… आमीन।।

 

Jumma tul vida mubarak sabhi dosotn ko,

allah hum aap sabhi ki ramjan,

ki ibadate kubul farmaye aamin..!!

 

जिन की उम्मीद सिर्फ अपने रब से हो,
वो कभी न उम्मीद नहीं होते।
” जुम्मा मुबारक ” ।।

 

Jin ki ummid sirf apne rab se ho,

wo kabhi na ummid nahi hote,..!!

 

जितना भी दिया अल्हम्दुलिल्लाह,
किसी के आगे झुकने न दिया अल्लाह ।।

 

Jitna bhi diya alahmdulillah,

Kisi ke aage jhukane na diya allah..!!

 

तुम्हारा रब ख़ूब जानता है,
तुम्हारे दिलों में क्या है।
” जुम्मा मुबारक ” ।।

 

Tumhra rab khub janta hai,

Tumhre dilon me kya hai …!!

 

जुम्मा मुबारक स्टेटस

 

नन्हे बच्चों ने भी देख तेरी बारगाह मे दुआ मे हाथ उठाया है,
अल्लाह राज़ी हो जा रमज़ान अलविदा के मुक़ाम पे आया है।
” जुम्मा मुबारक ” ।।

 

Nanhe bachhon ne bhi dekh teri bargah me dua me hath uthaya hai ,

allah razi ho ja ramzan alvida ke mukam pe aaya hai…!!

 

तुम दुआ के लिए हाथ उठा कर तो देखो,
वो अपने दर से कभी खाली हाथ जाने नहीं देता।
” जुम्मा मुबारक ” ।।

 

Tum dua ke liye hath utha kar ti dekho,

wo apne dar se kabhi khali hath jane nahi deta..!!

 

या अल्लाह आज के दिन
जितने भी हाथ तेरी बारगाह में उठे हैं,
उन सबकी दुआओ को कुबूल फरमा ।।

 

ya allah aaj ke din, jitne bhi hath teri bargaah me uthe hai ,

un sbki duao ko kabul farma..!!

 

खिलाफ सारा जहाँ भी हो जाये,
लेकिन आपका यकीन होना चाहिए
के अल्लाह आपके साथ है।
” जुम्मा मुबारक ” ।।

 

Khilaf sara jahan bhi ho gayi,

Lekin aapka yakin hona chahiye,

ke allah aapke sath hai..!!

 

कि तेरी आवाज सुनकर वो सुकून मिलता है,
जो सुकून मिलता है एलाने ए इफ्तारी के बाद रोजेदार को ।।

Ki teri aawaj sunkar wo sukun milta hai ,

Jo sukun milta hai elan e eftari ke bad rozedar ko…!!

 

Dua Alvida Jumma Mubarak Quotes

 

लगा रखी हैं एक तसवीर हरे गुंम्बद की,
बस इस के नूर से घर मे हमारे बरकत हैं।

 

Laga rakhi hai ek tasveer hare guband ki,

bas is ke nur se ghar me hamare barkat hai..!!

 

मोहब्बत भी अल्लाह के लिए बुग्ज़ भी अल्लाह के लिए।
” जुम्मा मुबारक “

 

Mohbat bhi allah ke liye bugj bhi

“alllah ke liye”

 

छोड़ो ये मोहब्बत के किस्से,,ये उम्र भर का रोना है,
आओ हम नमाज़ पढ़ते है,, और आखिरत संवारना है।

 

Chhodo ye mohbat ke kisse ye umr bhar ka rona hai ,

aao hum Namaj padhte hai aur akhirat sawara hai.,..!!

 

नमाज़ को मोहब्बत समझ के अदा
करोगे तो अल्लाह पाक,
अगली नमाज़ के लिए तुम्हे खुद
खड़ा कर देगा।

Namaz ko mohbbat samjh ke ada,

karoge to allah paak,

agali namaz  ke liye tumhe khud, khada kar dega..!!

 

दोस्तों आपको कैसा लगा हमारा पोस्ट जुम्मा मुबारक शायरी इन हिंदी ( Jumma Mubarak Shayari )  इस पोस्ट में आपको जो मैसेज जुड़ी मुबारक शायरियां मिली होगी और आपको पढ़कर जरूर अच्छा लगा होगा अगर यह पोस्ट आपको अच्छा लगा हो तो आप उन मुस्लिम भाइयों या मुस्लिम दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि वह अपने जुम्मे से जुड़ी हुई नमाज को वादा करें और आपके प्यार से मैसेज से उनके हृदय में खुशी ज़रूर होगी ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button