Shayari

Best 133 Famous Munawar Faruqui shayari In Hindi

नमस्कार दोस्तों। इंटरनेट पर अपने shayari अंदाज और comedy के साथ फेमस जो हरवक्त controversy से जुड़े रहते है । आज हम बात करेंगे munawar Faruqui shayari के बारे में जो की लोगों को दिल से छू जाती है ।

मुनावर फारुकी काफी ज्यादा चर्चा में रहते है चाहे वो उनके बयान को लेके हो या फिर उनके कॉमेडी या फिर उनके shayari अंदाज को लेके लेकिन रहते चर्चा में हमेशा है ।

इसलिए आज का हमारा पास munawar Faruqui ki shayari ka collection hai जो आप लोगों की डिमांड pe लेके आए है । हमे जरुर बताएगा आपको हमारा ये shayari collection कैसा लगा ।

 

Munawar faruqui shayari

 

टूटने से इनकी खविश होती पूरी


सही कहते है में सितारा बन गया हूँ !!

Munawar Faruqui shayari

Tutne se inki khwish hoti puri

sahi kahte hai main sitara ban gaya hoon,!!

 

रुसवा तो तू भी कर दूं.  लेकिन बाकी मुझे अभी भी याद है

पूरा शहर मेरा मुरीद. बस तेरा मोहल्ला मेरे खिलाफ है..

 

बता दो बाजार कोई, जहां वफ़ा मिले

यहां में बेचू खुशी और गम साला नफा मिले!!

Munawar faruqui shayari

Bata do bajar koi, jahan wafa mile

yahan me bechu khushiya aur gam sala nafa mile!!

Munawar faruqui biography in hindi

Munawar Faruqui shayari in hindi

 

तुम ज़िद करके बैठे हो मेरा नाम नही लोगों

फिर यूं याद करके हिचकियाँ क्यों दे रहे हो !!
Munawar faruqui shayari

Tum zid karke baithe ho mera naam nahi logon,

Phir yoon yaad karke hichkiyan kyun de rhe ho !!

 

कोई कहता है तेरा जाना मुश्किल होगा,

खुदा ने खशिया फैलाने भेजा है यकीन करो

रोक पाना मुश्किल होगा!!

 

koi kahta hai tera jana muskil hoga,

khuda ne khushiya failane bheja hai yakin karo

rok pana muskil hoga !!

 

कुछ रास्ता लिख देगा, कुछ में लिख दूंगा

तुम लिखते जाओ मुस्किले , में मंज़िल लिख दूंगा !!
Munawar faruqui shayari

Kuch rasta likh dega, kuch main likh dunga,

tum likhte jao muskile, main manzil likh dunga !!

 

Munawar shayari on maa

 

धूप चूब रही है मा

काश तेरा साया होता !!
Munawar faruqui shayari

Dhup chub rahi hai ma

kash tera saya hota !!

 

दफन है मुझमे कितने गम न पूछो

बुझ बुझ के जो रोशन रहा वो मुनावर हूँ में !!
Munawar faruqui shayari

dafan hai mujhme kitne gam na pucho,

bujh bujh ke jo roshan raha wo munawar hoon main !!

 

हर जगह बड़े मायूस से चेहरे नजर आ रहे है

लगता है अब उसने सजना सवरना बैंड कर दिया है !!
Munawar faruqui shayari

har jagah bade mayus se chehre najar aa rhe hai

lagta hai ab usne sajana savrna band kar diya hai !!

 

Munawar shayari for gf

 

कहना शायद मुश्किल होगा, मुझहे कितना चाहता हूँ,

तुझे आने वाली हिचकियों के लिए माफी चाहता हूँ!!
Munawar faruqui shayari

kahana shayad muskil hoga, mujhe kitna chahta hoon,

tujhe aane wali hichkiyon ke liy mafi chahta hoon,,!!

 

फल ही इतने लगे हुए थे इस पेड़ पे

लोगों का पत्थर मरना लाजमी था !!
Munawar faruqui shayari

Fal hi itne lage hue the is ped pe

logon ka patthar marna lajmi th !!

 

तेरा काम जलाना सही, मेरा काम बुझाना रहेगा

तुझमे और मुझमे फर्क है छोटे, वो हमेशा रहेगा!!

 

tera kaam jalana sahi, mera kaam bujhana rahega,

tujhme aur mujhme fark hai chhote, wo hamehsa rahega !!

 

बादशाहो को सीखाया गया है कलंदर होना,

आप आसान समझते है मुनावर होना !!

 

Badshahon ko sikhaya gaya hai kalandar hona,

aap aasan samjhte hai munawar hona!!

 

Munawar shayari on life

 

वो झूठे वादे करते है, मगर मिलने नही आते ,

हम भी कम्बख़त इश्क़ से बाज नही आते !!

 

wo jhuthe wade karte hai magar milne nahi aate,

hum bhi kambhkhat ishq se baaj nahi aate !!

 

वो गुमनामि में जी रहे है खुदकी वफ़ा की

जिन्हें बस मेरी कोई याद मत दिलाना !!

 

Wo gumnami me jee rhe hai khudki wafa ki

jinhe bas meri koi yad mat dilana !!

 

बाजारों में रौनक लौट आई है

लगता है वो बेपर्दा बाजार आई है !!

 

Bajaron me ronak laut aai hai ,

lagta hai wo beparda bajaar aai ahi !!

 

मेरा ख्वाब जागेगा मेरी नींद भरि आंखों में

आंख लगे तो थाम लेना साथ मेरा !!

 

Mera khawab jagega meri nind bhari ankhon me

ankh lage to tham lena sath mera !!

 

Munawar shayari in hindi

 

न कभी देखता आगे क्या मुसीबत है

मेरे पीछे काफिले है चलते दुआओके !!

 

Na kabhi dekhta aage kya musibat hai,

mere pichhe kafile hai chalte duaoke !!

 

वो था तूफान जो दस्तक देकर आया था

अकेला था लगा था लश्कर लेकर आया था

वो पूछोगे किसकी है ये लोहे जैसी लेगेसी

कहना वो डोंगरी वाला आग लेकर आया था !!

 

Wo tha tufan jo dastak dekar aaya tha,

akela tha laga tha lashkar lekar aaya tha,

wo puchenge kiski hai ye loh jaisi legecy

kahan wo dongri wala aag lekar aaya tha !!

 

कितने दिल दुखाओगे बस करो

ये काला काजल लगाना बस करो

एकबार अगर देख ली जुल्फे खुली किसी ने

मर जाएंगे कई सुनो बाल बांध लो !!

 

Kitne dil dukhaoge bas karo

ye kala kajal lagana bas karo

ekbar agar dekh li julfe khuli kisi ne

mar jayenge kai suno baal bandh lo !!

 

वो राज की तरह मेरी बातों में था

जुगनू जैसे मेरी काली रातों में था

किस्सा क्या सुनाऊ तुम्हे कल रात का

सितारों की भीड़ में वो चांद मेरे हाथों में था !!

 

Wo raaj ki tarah meri baton me tha

jugnu jaise meriu kali raton me tha

kissa kya sunau tumhe kal raat ka

sitaron ki bhid me wo chand mere hathon me tha !!

 

मेरी कलम मेरी खुव्वत चाहे मंज़िल लिखदु

मेरी हुकूमत में , लहरों पे समंदर लिख दु

डांम इतना में मस्त रहता खुद ही में

खुद की ही पेशानी पे कलंदर लिख दु !!

 

Meri kalam meri khuvvat chahe manzil likhdu

meri hukummat me, lahron pe samdnar likh du

dam itna me mast rahta khud hi me

khud ki hi pareshani pe kalandar likh du !!

 

Munawar sad shayari in hindi

 

रहमत हजार लेकिन मोहबत से महरूम रहूंगा

मत पूछो , मुझसे शिकायत उनकी खुदा से करूँगा

मेरे नाम का जिक्र हो तो दुआ भेजना सुकून की

मैं मुन्नवर मरने के बाद भी मशहूर रहूंगा !!

 

Rahamat hajar lekin mohbat se mahrum rahunga

mat pucho, mujhse shikayat unki khuda se karunga,

Mere naam ka jikr ho to dua bhejna sukun ki

Main munavar ke baad bhi mashhur rahunga !!

 

में अपने करवटों का हिसाब लिए बैठा हूँ

में राजदार उनके राज लिए बैठा हूँ,

नही गरज अब। कोई परछाई बने मेरी

में अपने सायों से नफरत किये बैठा हूँ,!!


Main apne karwaton ka hisb liye baitha hoon,

main rajdar unke raj liye biatha hon,

nahi garaj ab koi parchai bane meri

main apne sayon se nafarat kiye baitha hoon..!!

 

 

खड़ा बुलन्दी पे खुदा लाख शुक्र करू

आमाल खास नही तो आख़िरत की फिक्र करू

उज़्को शायद पसंद है मेरा टूटना

मुसीबत भेजता है, ताकि उसका जिक्र करू !!

 

Khada bulandi pe khuda lakh sukr karu,

aamal khas nahi to akhirat ki fikr karu

usko shayad pasand hai mera tutna

musibat bhejta hai taki uska jikr karu !!

 

मेरे गम को हसी में दबा बैठा है

राहतों का दौर अपनी राहों में लुटा बैठा है

वो क्या जलील करेगा मेरी जाट को

जब की मेरा खुदा मेरे गुनाह छुपा बैठा है !!

 

Mere gam ki hasi me dba baitha hai,

rahton ka dor apni rahton me luta baitha hai

wo kya jalil karega meri jaat ko

jab ki mera khuda mere gunah chhupa baitha hai !!!

 

More Articles

Promise day shayari 

Best Love shayari in English 

हम उम्मीद करते है आपकोहमारा पोस्ट munawar Faruqui shayari पसंद आया होगा और आपको सबसे जायदा कौनसी लाइन लगी हमे comment karke जरूर बताएं और इस पोस्ट और share जरूर करे ताकि और अच्छी अच्छी शायरी लोगों को पढ़ने का मौका मिल ।

Related Articles

4 Comments

  1. मुझ पर दोस्तों का प्यार,
    यूँ ही उधार रहने दो,
    बड़ा हसीन है ये कर्ज़,
    मुझे कर्ज़दार रहने दो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button