Shayari

New Murshad Shayari : Best 150 Trending Murshad Shayari In Hindi

आज का हमारा पोस्ट कुछ trending shayari पर होने वाला है जिसका टॉपिक है “ Murshad shayari “ जो की सोसल मीडिया पर काफी ज्यादा viral शायरी है ! अगर आप भी viral hindi shayri ढूढं रहे थे तो ये पोस्ट आपकी हेल्प करेगा..!

मुरशद शायरी इन हिंदी जो की मोहबत के लिए काफी ज्यादा पसंद की जाने वाली शायरी है, जिसमे मोहबत में छूट जाना या उसकी याद शायरी ( Miss you shayari ) आदि से संबधित है..!!

 

Murshad shayari

 

अब रातों को नींद आती नही मुरशद

इश्क़ हो गया है हमे लगता है ..!!

Murshad shayari

Ab raton ko nind aati nahi murshas,

ishq ho gaya hai hume lagta hai ..!!

 

वो जब उनका हाथ छुटा था ,

यूं लगा कुछ टूटा था मुरशद..!!

Murshad shayari

Wo jab unka hath chhuta tha,

yoon laga kuch tuta tha murshad..!!

 

हम हर जगह से ठुकराए गए है ,

मुर्शिद! क्या हम भी जन्नत में जाएंगे..!

Murshad shayari

Hum har jagah se thukaraye gaye hai ,

murshad  ! kya hum bhi jannat me jayenge..!!

 

बहुत देर हो चुकी है मुरशद

अब उन्हें भूलना नामुमकिन है .!!

Murshad shayari

Bahut der ho chuki hai murshad,

ab unhe bhulna namumkin hai..!!

 

Murshad sad shayari

 

हम तो टूटे हुए लोग है मुरशद

हसी भी पास हमारे आकर रोने लगती है .!!

Murshad shayari

Hum to tute huye logon hai murshad,

Hasi bhi pass hamare aakr rone lagti hai ..!

 

भरोसा तो जिन्दगी का भी नही मुरशद

और तुम इंसानो पर कर लेते हो ..!!

Murshad shayari

Bharosa to zindgi ka bhi nahi murshad,

aur tum insaon par kar lete ho ..!!

 

Murshad shayari hindi

 

ख़ैर अब कोई खैरियत पूछने वाला

मुरशद जहां रहे मेरे चाहने वाले खुश रहे..!!

Murshad shayari

Khair ab koi khairiyat puchhane wala,

murshad jahan rhe mere chahane wale khush rhe..!!

 

उस लड़के का दुख, तुम क्या समझोगे मर्शिद

जिसे मोहबत हो जाए और वो बेरोजगार हो ..!!

 

Us ladke ka dukh tum kya samjhoge murshad,

jise mohbbat ho jaye aur wo berozagar ho ..!!

 

वो जो दिल तोड़ देते है, किसी का मुरशद

इश्क़ उन्हें भी होना चाहिए ..!!

Murshad shayari

Wo jo dil tod dete hai kisi ka murshad,

ishq unhe bhi hona chahiye.!!

 

Murshad shayari 2 line Hindi

 

सुना है ईद आने वाली है, यानी सब खुशिया मनाएंगे

मुरशद तेरे ठुकराए हुए हम बताओ न कहा जाएंगे

Murshad shayari

Suna hai E-D aane wali hai, yani sab khushiya manayenge,

murshad tere thukaraye huye hum batao na kaha jayenge..!!

 

हर किसी से इश्क़ कहा होता है मुर्शीद

इश्क़ उन्ही से होता हिअ जो नसीब में नही होते..!!

Murshad shayari

Har kisi se ishq kaha hota hai mushid,

ishq unhi se hota hai jo naseeb me nai hote..!!

 

उसे लिखा गया किसी और के नसीब में मुर्शिद

वो शक्श जिसे दुआओ में मेने मंगा था ..!!

 

Use likha gaya kisi aur ke naseeb me murshad,

wo shkash jise duo me mene manga tha..!!

 

मन भर चुका है ज़िन्दगी से मुरशद

दुआ करो हम मार जाए.!!

 

man bhar chuka hai zindgi me murshad,

dua karo hum mar jaye..!!

 

हर बात पे जो कर लेते हिअ एतबार आप का मर्शिद

हमारी मोहबत को हमारी बेवकूफी न समझो ..!!

 

Har bat pe jo kar lete ho etbar aap ka murshid,

hamari mohbbat ko hamari bewkufi na samjho.!!

 

चहेरे से कहा पता चलता है मुरशद

कौन अपने अंदर किनते दर्द रखता है..!!

 

chehare se kaha pata chalata hai murshad,

kaun apne andar dard rakhta hai ..!!

 

वो जो मेरे बाल तक बिखरने नही देता था

मर्शिद मुझे वो इस हाल में देखेगा तो मार जाएगा..!!

 

Wo jo mere bal tak bikharne nahi deta tha,

murshid mujhe wo is hal me dekhenge to mar jayaega..!!

 

सुना था फरिश्ते जान लेते है मुर्शीद

ख़ैर छोड़ो अब तो इंसान लेते है ..!!

Suna tha fariste jaan lete hai murshid,

khair chhodo ab to insan lete hai..!!

 

तुझको मेरी ना मुझकों तेरी खबर मिली

मुरशद ईद इस बार भी दबे पाव गुजर गयी ..!!

 

Tujhko meri na mujhko teri khabar mili,

murshad ED is bar bhi dabe pav gujar gayi..!!

 

वो कर रहे थे तैयारी जाने की मुरशद

उन्हें रोकना हमे भी ठीक न लगा..!!

 

Wo kar rhe the taiyari jane ki murshad,

unhe rokna hume hi thik na laga..!!

 

मर्शिद हर एक रात में मेहताब देखने के लिए

हुम तो सोते है तेरे खवाब देख्नने के लिए ..!!

 

Murshid har ek rat me mehtab dekhane ke liye,

hum to sote hai tere khwab dekhane ke liye..!!

 

वो जिन्हें कदर नही मेरी मुरशद

बहुत पछताएंगे बाद मेरे वो ..!!!

 

Wo jinhe kadar nahi meri murshad,

bahut pachhataoge bad mere wo …!!

 

Murshad love shayari

 

मेरे गाँव की शहजादियाँ जलती है मर्शिद

में एक सावली को अपनी जान बुलाता हूँ..!!

 

उनकी न थी खाता हम ही गलत समझ बैठे

मुरशद वो मोहबत से बात करते थे

हम ही मोहबत समझ बैठे

 

एक बार फिर से मोहबत करेंगे हम मर्शिद

भरोसा उठा है, हमारा जनाजा नही ..!!

 

मुझे तुमसे शिकायत नही लेकिन मुरशद

मगर याद आता है तेरा मुझसे मोहबत से बात करना..!!

 

दिल बेचने निकले थे उनकी तलाश में

मुरशद , खरीदने वाले ने ऐसा दर्द भी दे दिया और दिल भी ले लिया ..!!

 

तू उतना कर ही नही सकता था मुझे

मुरशद जितना खुद को बर्बाद किया मेने

 

Very Sad Murshad shayari

 

कहा पूरी होती है दिल की सभी खाविशे

मुरशद बारिश भी हो , यार भी हो फिर पास भी हो

 

रात भी गुजर गयी ,उम्मीद का सूरज डुब गया

वादा करके जाने वाला मुरशद लौट कर आना भूल गया

 

तुमने हमेशा आने में देर कर दी

मुरशद मेने हमेशा अपनी घड़ी को खराब समझा

 

हम तो पहले से अकेले थे और अकेले है ,

छोड़ कर तुमने कोई कमाल थोड़ी न किया है .!!

 

वो मुझे छोड़ कर चला गया मुरशद

उसे किसीने मजबूर किया होगा..!!

 

Life Murshad Shayari

 

मेरी मौत पर भी कोई रोने वाला नही था

मुरशद , कितना बदनसीब था में ..!!

 

यह जो तुम इश्क़ में करते हो हिसाब किताब

मुरशद हम जो करने बैठे तो तुम्हे ही खरीद लेंगे..!!

 

काश कोई ऐसा हो जो गले लगा कर कहे मुरशद

रोया नकर तेरे रोने से मुझे भी दर्द होता है ..!!

 

मुझसे मोहबत पर मशवरा मंगते है लोग

मुरशद तेरा इश्क़ कुछ इस तरह से तर्जुबेडे गया मुझे

 

मुरशद उसने कहा तुम्हें मार जाने के लिए

हमने भीकह दिया उनको

सखी की इच्छा आदेश है दीवाने के लिए

 

Murshad ki shayari

 

किसी काम से निकले थे घर से मुरशद

उन्हें देखा सब कुछ भूल गए हम …!!

 

मर्शिद उसे कहना के तुम्हारी याद आती है ,

मर्शिद और उसे ये भी कहना के हम रो पड़े ..!!

 

यूं हर किसी से बैर पालोगे

मुरशद में अकेले राह जाओगे तुम ..!!

 

मर्शिद हाल सुन्ना मुश्किल है

इसलिए शेर सुनता रहता हूं,,,!

 

यह तो परिदों की मासूमियत है मुरशद

वरना दूसरों के घरों में अब यूं कौन आता जाता है..!!

 

गजब का हंगामा है उसके शहर में मुरहसिड

हर शख्स कह रहा है वो मेरा है वो मेरा है ..!!

 

हम समझाते तो समझाते कैसे मुरशद

वो कुछ सुन्ना ही नही चाहते थे ..!!

 

मर्शिद माना की मौत , बरहक़ है लेकिन

मेरे मरने तक तो जीने दो ..!!

 

हम जैसे बेकार लोग मुरशद

रुठ भी जाए तो कोई मनाने नही आता.!!

 

हमे कोई तरकीब बताए आप मुस्कराने की

मुरशद उनके जाने से हम हँसना भूल गए है ..!!

 

कांटे तो नसीब में आने ही थे मुरशद

फूल जो गुलाब देना था न हमने..!!

 

Murshad shayari in hindi

 

जब चोट लगती है दिल पे मुरशद

अकाल तब ठिकाने आती है ..!!

 

आवाज नही होती दिल टूट फिर भी जाता है ,

ख़्वालो में खोया आशिक चलते चलते गिर भी जाता है..!!

 

इश्क़ जिंदा भी छोड़ देता है मुरशद

में तुम्हे अपनी मिसाल देता हूँ,

 

अब तेरा खेल खेल रही हूँ अपने साथ

मर्शिद खुद को बुलाती हूँ और आती नही हूँ..!!!

 

मर्शिद निकले थे वो लोग मेरी शख्सियत बिगाड़ने

किरदार जिनके खुद मरम्मत मांग रहे है ..!!

 

मुरशद हमारी कहानी फिर से लिखी जाए ,

इस बार हम बेवफा बनेंगे..!!

 

रात सारी गुजरीइन हिसाबों में मुरशद

उसे मोहब्बत थी नही या है नही ..!!

 

Murshad meaning

हमे उम्मीद हैं आपको यह post murshad shayari पसंद आया होगा । आप इस पोस्ट को आगे अपने दोस्तों और सोशल मीडिया ने ग्रुप्स में share कर सकते हैं। और इसी ही बेहतरीन hindi shayari पढ़ने के लिए आप साइट पर पढ़ सकते है । 

आपको इसमें से सबसे अच्छी कौनसी shayari लगी हमे comments करके जरूर बताएं और आप के मन में कोई भी बात हो तो आप बेझिझक नीचे पूछ सकते है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button