Shayari

Rishte Matlabi Shayari

दोस्तों आज का ये पोस्ट rishte matlabi shayari  के बारे में है । क्यूकी दुनिया में बहुत लोग मतलबी है । अगर आपकी ज़िंदगी में भी ऐसे लोग है तो ये पोस्ट आप लोगों के लिए । अगर आप भी ऐसी ही शायरी सर्च कर रहे है तो आप सही जगह आये  है। 

दुनिया में बहुत से मतलबी लोग है । और कुछ मतलबी हमारी ज़िंदगी में है । और वो लोग हमारी ज़िंदगी में सिर्फ़  मतलब से ही रहते है इसमें हमारे फ़ैमिली वाले या रिश्ते दर ही हो सकते है। तो चलिए पढ़ते है rishte matlabi shayari in hindi 

Matlabi shayari

 

पूरी दुनिया मतलबी सी लगने लगती है,
जब कोई अपना ही मतलबी हो जाता है। 

Rishte matlabi shayari

Puri duniya matlab si lagane lagti hai ,

Jab koi apna hi matlab ho jata hai ..!!

 

दिलों मे मतलब और जुबान से प्यार करते है !!

बहुत से लोग दुनिया मे यही कारोबार करते है !

Rishte matlabi shayari

Dilon me matlab aur juban se pyar karte hai ,

Bahut se log duniya  me yahi karobar karte hai..!!

 

अपने मतलब की बारी आई तो सब रिश्ते अच्छे लगने लगे,

जब अपनों की बारी आई तो सब बुरे लगने लगें।

Rishte matlabi shayari

Apne matlab ki bari aai to sab rishte achhe lagane lage.,

Jab apnon ki bari aai tos sab bure lagane lage..!!

 

Read More Post 

Gaddar dost shayari status 

Breakup Quotes in hindi

Facebook Shayari Attitude

जब इन्सान की जरुरत खत्म हो जाती है

उनके बोलने का अंदाज बदल जाता है !!

Rishte matlabi shayari

Jab insan ki jarurat khatm ho jati ahi ,

Unke bolne ka andaz badal jata hai..!!

 

लोग रिश्ते बनाते ही है अपनी जरुरत के लिए,
उनके लिए रिश्ते होते है केवल मतलब के लिए।

Rishte matlabi shayari

Log rishte banate hi hai apni jarurat ke liye,

Unke liye rishte hote hai keval matlab ke liye..!!

 

Rishte dhoka rishte matlabi shayari

 

बड़ी अजीब सी है शहरों की रौशनी,

उजालों के बावजूद चेहरे पहचानना मुश्किल है।
Rishte matlabi shayari

Badi ajib si ahi shahron ki raishani,

Ujalon ke bawled chehre pahchanana muskil hai ..!!

 

अपने दिखते नहीं,

और जो दिखते हैं वह अपने नहीं। 

Rishte matlabi shayari

Apne dikhate nahi ,

Aur jo dikhate hai wah apne nahi ..!!

 

किस किस को स्वार्थी कहे हम,
यहाँ तो हर कोई मतलबी है।

Rishte matlabi shayari

Kis kis ko swarthi kahe hum, 

Yaha to har koi matlab hai ..!!

 

Dard matlabi shayari

 

यूँ असर डाला है स्वार्थी लोगो ने दुनिया पर,

हाल चाल भी पूछो तो लोग समझते है की काम होगा।

Rishte matlabi shayari

Yoon asar dala hai sarthi doo ne duniya par,

Haal chal bi pucho to log samjhte hai ki kam hoga..!!

 

भगवान जब तूने रिश्ते बनाना सीखा दिया,

तो मतलब के लिए इन्हे तोडना भी सीखा दिया।

Rishte matlabi shayari

Bhagean jab tune rishte banana sikha diya

To matlab je liye unhe todna bhi sikha diya  hota..!!

 

पक्के रिश्ते तो बचपन में बनते थे,

अब बड़े हुए तो पता लगा सब मतलब से बात करते हैं।

Pakke rishte  to bachpan me banate the,

Ab bade huye t0 pata laga sab matlab se bat karte hai.!!

 

Matlabi shayari in hindi

 

जिस पर यकीन होता है जब वह धोखा देता है,

तो पूरी दुनिया मतलबी लगने लगती है।

Jis par yakin hota hai jab wah dhokha deta hai,

To puri duniya matlab lagane lagti hai ..!!

 

कई बार वो लोग रिश्तों की कीमत समझते हैं

जिनका हमसे कोई लेना-देना नहीं है।

Kai bar wo log rishton ki kimat samjhte hai ,

Jinka humse koi lena dena nahi hai..!!

 

जिनकी दोस्ती की मिसाल दिया करते थे,

ये हमारे पीठ पीछे हमारी ही कब्र खोद रहे हैं।

jinki dosti ki misal diya karte hai ,

ye hamare pith pichhe hamari hi kabar khod rhe hai..!!

 

कभी मतलब के लिए तो कभी बस मनोरंजन के लिए,

हर कोई प्यार ढूंढ रहा है यहाँ ज़िन्दगी के लिये।

Kabhi matlab key bye to kabhi bas manoranjan ke liye,,

Har koi pyar dhun raha raha hai yahan zindgi ke liye..!!

 

सड़कों की तरह काश ज़िन्दगी के रास्तों पर भी

लिखा होता की आगे खतरनाक मोड़ है, सावधान रहें।

Sadkon ki tarah kash zindgi ke raste par bhi 

Likha hota ki aage khatarnak mod hai savdhan rhe..!!

 

Rishte matlabi shayari

 

देख लेना किसी दिन एहसास होगा तुम्हे,

था कोई अपना जो बिना मतलब चाहता था तुम्हे।

Dekh lena kisi din ehsas hoga tumhe,

Tha koi apna jo bina matlab chahata tha tumhe..!!

 

जब कोई इंसान नज़र अंदाज़ करना शुरू करदे

तोह समझ लेना उसकी ज़रूरतें पूरी होगी है।

Jab koi insan nazar andaz karna shuru karde,

Toh samjh lena uski jarurate puri hogayi hai ..!!

 

ऐसे दोस्तों से दोस्ती रखिये जो आपकी परवाह करते हैं,

मतलबी और इस्तेमाल करने वाले तो आपको ढूँढ ही लेंगे।

Aise doston se dosti rakhiye jo aapki parwah karte hai ,

Matlab aur istemal karne wale to aapko dhun hi lenge..!!

 

ये जो हालत है मेरे, एक ना एक दिन सुधर ही जायेंगे,

लेकिन तब तक काफी लोग, इस दिल से उतर जायेंगे।

Ye jo halat hai mere ek na ek din sudhar hi jayenge,

Lekin tab tak kafi log is dil se utar jayenge..!!

 

अब टूट गया दिल तो बवाल क्या करें,

खुद ही किया था प्यार अब सवाल क्या करें।

Ab tuta gaya til to bawal kya kar,

Khud h kiya tha pyar ab sawal kya kare..!!

 

Matlabi paise ki duniya hai shayari

जरूर एक दिन वो शख्स तड़पेगा हमारे लिए अभी

तो खुशियाँ बहोत मिल रही है उसे मतलबी लोगो से।

Jarur ek din wo shakhs tadpega hamare liye abhi,

to khushiya baoht mil rahi hai use matlab log se..!!

 

रिश्तों को खुदगर्जियो से तोला हे कुछ लोगो ने,

अब कोई हाल भी पूछे तो मतलब नज़र आता है।

Rishton ko khudgarjiyon se tola hai kuch logon ne,

Ab koi haal bhi puche to matlab nazar aata hai..!!

 

रिश्तों पर रुपयों की किश्ते जोड़ देते है,

खाली हो जेब तो अपने हर रिश्तें तोड़ देते है।

Rishton par rupaye ki kismet jod dete hai,

Khali ho jeb to apne har rishte tod dete hai..!!

 

मेरी जेब में ज़रा सा छेद क्या हो गया,

सिक्के से ज़्यादा तो रिश्ते गिर गए।

Meri jeb me zara sa ched kya ho gaya,

Sikke se jyada to rishte gir gaye..!!

 

फायदा बहुत गिरी हुई चीज है,

लोग उठाते ही रहते हैं।

Fayada bahut giri hui chiz hai ,

Log uthate hi rahte hai..!!

 

हारा हुआ सा लगता है वजूद मेरा,

हर एक ने लूटा है दिल का वास्ता देकर।

Hara hua sa lagata hai yajud mera,

Har ek ne luta hai dil ka wasta dekar..!!

 

Matlabi log shayari

ये संग दिलो की दुनिया है, यहाँ संभल के चलना दोस्त,

यहाँ पलकों पर बिठाया जाता है, नजरो से गिराने के लिए!

He sang dilon ki duniya hai yaha sabhal ke chalana dost,

Yahan palakon par bithaya jata hai nazar se girane ke liye..!!

 

घमंड था मुझे बहोत की मेरे रिश्तेदार मेरे है,

लेकिन अच्छा हुआ की आप लोगो ने मेरा घमंड तोड़ दिया।!

Ghamand tha mujhe bohat ki mere rishtedar mere hai,

Lekin achha hua ki aap logon ne mera ghamand tod diya..!!

 

उनका मतलबी होना भी पसंद है हमें,

मतलब से ही सही याद तो करते हैं हमें।

Unka matlab hona bhi pasand hai hume,

Matlab se hi sahi yad to karte hai hume..!!

 

जिन्हे ज्ञान हे उन्हें घमंड केसा,

जिनको घमंड हे, उन्हें ज्ञान केसा।

Jinhe gyan he unhe ghamand kaisa,

Hank ghamand hai unhe gyan kaisa..!!

 

किस बात पर रिश्तेदार इतने घमंडी हे,

बनकर मिट जाने की हम सब की एक छोटी सी कहानी हे।

kis bat par rishtedar itne ghamand hai,

banakar mit Jane ki hum sab ki ek chhoti si kahani hai ..!!

 

आपको कैसा लगा   ? हमारा पोस्ट rishte matlabi shayari उम्मीद करते है आपको पोस्ट पसंद आया होगा अगर आया है तो इस पोस्ट को अपने उन लोगों को ज़रूर शेयर करे जो मतलबी है  ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button